प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना का आप कैसे उठा सकते हैं लाभ?

प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना क्या है उज्ज्वला योजना का आप कैसे उठा सकते हैं लाभ आइये जानते है

प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना का आप कैसे उठा सकते हैं लाभ?

प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना का आप कैसे उठा सकते हैं लाभ?

प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना (PMUY) के तहत सरकार गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाले परिवारों को घरेलू रसोई गैस (एलपीजी/LPG गैस) का कनेक्शन देती है

केंद्र सरकार की प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना (PMUY) से कमजोर वर्ग के परिवारों खासकर महिलाओं को बहुत राहत मिली है. इसे 1 मई 2016 को उत्तर प्रदेश के बलिया में लॉन्‍च किया गया था.

PMUY के तहत सरकार गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाले परिवारों को घरेलू रसोई गैस (एलपीजी (LPG) गैस) का कनेक्शन देती है. प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना (PMUY) केंद्र सरकार के पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय के सहयोग से चलाई जा रही है.
एलपीजी
ग्रामीण इलाके में खाना पकाने के लिए परंपरागत रूप से लकड़ी और गोबर के उपले का इस्तेमाल किया जाता है. इससे निकलने वाले धुएं का खराब असर महिलाओं के स्वास्थ्य पर पड़ता है.

प्रधानमंत्री उज्जवला योजना (PMUY) से ऐसी महिलाओं को राहत मिलती है. साथ ही इससे ग्रामीण इलाके को स्‍वच्‍छ रखने में मदद मिलती है.

किसे मिल सकता है PMUY का लाभ?


PMUY में साल 2011 की जनगणना के हिसाब से जो परिवार बीपीएल (BPL) कैटेगरी में आते हैं, उन्हें PMUY का लाभ मिल सकता है. इस PMUY के तहत कुल 8 करोड़ BPL परिवारों को फ्री में LPG कनेक्‍शन उपलब्‍ध कराने का लक्ष्‍य है.


PMUY से लोगों को क्या लाभ मिलेंगे?

  • शुद्ध ईंधन के प्रयोग से महिलाओं के स्‍वास्‍थ्‍य में सुधार
  • अशुद्ध जीवाश्‍म ईंधन के प्रयोग न करने से वातावरण में कम प्रदूषण
  • खाने पर धुएं के असर से मृत्‍यु में कमी
  • छोटे बच्‍चों में स्‍वास्‍थ्‍य समस्या से छुटकारा

PMUY के लिए कैसे करें आवेदन?

  1. PMUY के तहत गैस कनेक्शन लेने के लिए BPL परिवार की कोई महिला आवेदन कर सकती है. इसके लिए आपको KyC फार्म भर कर नजदीकी एलपीजी केंद्र में जमा करना होगा.
  2. PMUY में आवेदन के लिए 2 पेज का फॉर्म, जरूरी दस्‍तावेज, नाम, पता, जन धन बैंक अकाउंट नंबर, आधार नंबर आदि की जरूरत पड़ती है.
  3. आवेदन करते समय आपको यह भी बताना होगा कि आप 14.2 किलोग्राम का सिलेंडर लेना चाहते हैं या 5 किलोग्राम का.


कहां से मिलेगा PMUY का फॉर्म?

PMUY का आवेदन पत्र आप प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना की वेबसाइट से डाउनलोड कर सकते हैं. आप नजदीकी एलपीजी केंद्र से भी आवेदन फॉर्म ले सकते हैं.


PMUY के लिए कौन से दस्तावेज हैं जरूरी?

  1. पंचायत अधिकारी या नगर निगम पालिका अध्‍यक्ष द्वारा अधिकृत BPL कार्ड
  2. बीपीएल (BPL) राशन कार्ड
  3. फोटो आईडी (आधार कार्ड, वोटर आईडी)
  4. पासपोर्ट साइज की फोटो
  5. राशन कार्ड की कॉपी
  6. राजपत्रित अधिकारी (गैजेटेड अधिकारी) द्वारा सत्यापित स्व-घोषणा पत्र
  7. LIC पालिसी, बैंक स्टेटमेंट
  8. BPL सूची में नाम का प्रिंट आउट

PMUY के लिए अन्य जरूरी बातें

  • आवेदक का नाम SECC-2011 के आंकड़ों में होना चाहिए.
  • आवेदक महिला होनी चाहिए जिसकी उम्र 18 साल से कम ना हो.
  • महिला बीपीएल (BPL) परिवार से ही होनी चाहिए.
  • महिला का एक बचत खाता किसी राष्‍ट्रीय बैंक में होना अनिवार्य है.
  • आवेदक के घर में किसी के नाम से पहले से कोई एलपीजी कनेक्‍शन नहीं होना चाहिए.
  • आवेदक के पास बीपीएल कार्ड और और बीपीएल राशन कार्ड होना चाहिए.

हर परिवार को PMUY में 1,600 रुपये की सहायता

भारत सरकार PMUY में हर योग्य बीपीएल परिवार को वित्तीय सहायता योजना के तहत PMUY में 1600 रुपये की आर्थिक सहायता देगी. यह रकम LPG गैस कनेक्‍शन खरीदने के लिए होगी.

इसके साथ ही चूल्हा खरीदने और पहली बार LPG सिलेंडर भराने में आने वाले खर्च को चुकाने के लिए किस्‍त (EMI) की सुविधा भी दी जा सकती है.

PMUY के बारे में ज्‍यादा जानकारी के लिए आप पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय की वेबसाइट http://www.petroleum.nic.in/sites/default/files/pmuy.pdf पर भी जा सकते हैं.

लाभार्थी का मोबाइल नंबर रजिस्टर्ड होना अनिवार्य

लाभ लेने के लिए LPG सिलेंडर लेने के लिए ग्राहक का मोबाइल नंबर रजिस्टर होना अनिवार्य है. इस स्कीम के तहत लाभ देने के लिए सरकार ने पूरी तैयारी करने के बाद सिलेंडरों की सप्लाई भी शुरू कर दी है. लाभार्थियों के खाते में पैसे आने शुरू हो गए हैं. इस पैसे से नकद भुगतान कर सिलेंडर ले सकते हैं.

नया सिलेंडर बुक करने के लिए कम से कम 15 दिन का गैप रखना होगा. उज्ज्वला स्कीम के तहत 14.2 किलोग्राम वाले 3 सिलेंडर ही प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना में दिए जाएंगे. 1 महीने में एक ही सिलेंडर मुफ्त में दिया जाएगा.

प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना (PMUY) का शुभारंभ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 1 मई, 2016 को उत्तर प्रदेश के बलिया में किया था. 8000 करोड़ योजना के कार्यान्वयन के लिए आवंटित किए गए थे. योजना का मुख्य उद्देश्य ग्रामीण क्षेत्रों में मुख्य रूप से गरीब परिवारों को स्वच्छ खाना पकाने के लिए ईंधन उपलब्ध कराना है.