प्रधानमंत्री ग्रामीण डिजिटल साक्षरता अभियान (PMGDISHA): ऑनलाइन आवेदन फॉर्म

प्रधानमंत्री ग्रामीण डिजिटल साक्षरता अभियान को शुरू किया है इस योजना के ज़रिये देश के ग्रामीण क्षेत्र के परिवारों में डिजिटल जागरूकता व शिक्षा को बढ़ावा देना है। इस  ग्रामीण डिजिटल साक्षरता अभियान 2020  के तहत ग्रामीण परिवारों के एक सदस्य को आत्मनिर्भर बनाना और सशक्त बनाना ।

प्रधानमंत्री ग्रामीण डिजिटल साक्षरता अभियान (PMGDISHA): ऑनलाइन आवेदन फॉर्म
pm Gramin Digital Saksharta Abhiyan

ग्रामीण डिजिटल साक्षरता अभियान क्या है 

इस अभियान को देश के ग्रामीण क्षेत्रो के नागरिको के लिए लागू किया गया है ।इस PMGDISHA 2020 का लाभ ग्रामीण क्षत्रो के उन परिवारों को प्रदान किया जायेगा । जिनके परिवार का कोई सदस्य डिजिटल तरीके से साक्षर ना हो तथा  उस परिवार में किसी को भी कंप्यूटर की (The member should not be digitally literate and no one in that family has knowledge of computers ) जानकारी ना हो। एक परिवार में घर का मुखिया, उनकी पत्नी, बच्चे व माता-पिता आते हैं। इस योजना के अंतर्गत एक परिवार के एक सदस्य को कंप्यूटर सम्बन्धी ट्रेनिंग (A member of a family will be given computer related training ) दी जाएगी । जिन लोगो को प्रधानमंत्री ग्रामीण डिजिटल साक्षरता अभियान 2020 के तहत ट्रेनिंग प्राप्त करना चाहते है तो उन्हें सबसे पहले इस योजना के तहत आवेदन करना होगा ।

 आइये जाने ग्रामीण डिजिटल साक्षरता अभियान 2020 का उद्देश्य क्या है 

जैसे की आप लोग जानते है कि देश के ग्रामीण नागरिक या तो अनपढ़ होते है या फिर कम पढ़े लिखे होते है वर्ष 2014 में नेशनल सैंपल सर्वे ऑफिस (NSSO) द्वारा शिक्षा पर किये गए सर्वे के अनुसार भारत में केवल 6 प्रतिशत ग्रामीण परिवारों के पास घर में एक कंप्यूटर हैं। जिसका मतलब है 15 करोड़ से ज्यादा परिवारों के पास कंप्यूटर नहीं है ।इस सभी बातो को देखते हुए केंद्र सरकार ने ग्रामीण लोगो को लाभ पहुंचाने के लिए प्रधानमंत्री ग्रामीण डिजिटल साक्षरता अभियान को शुरू किया है इस योजना के ज़रिये देश के ग्रामीण क्षेत्र के परिवारों में डिजिटल जागरूकता व शिक्षा को बढ़ावा देना है। इस  ग्रामीण डिजिटल साक्षरता अभियान 2020  के तहत ग्रामीण परिवारों के एक सदस्य को आत्मनिर्भर बनाना और सशक्त बनाना ।

आइये जान ले प्रधानमंत्री ग्रामीण डिजिटल साक्षरता अभियान की विशेषताएं क्या होंगी 

  • इस योजना के तहत, 31 मार्च 2020 तक देश के तकरीबन 40 प्रतिशत ग्रामीण परिवारों में से कम से कम एक सदस्य को डिजिटल रूप से साक्षर बनाने की योजना है।
  • इस योजना के तहत देश केकरीबन 6 करोड़ नागरिकों को डिजिटल साक्षरता प्रदान की जाएगी |PMGDISHA के तहत 2020 तक तकरीबन 52.5 लाख लोगों को आईटी (IT) ट्रेनिंग प्रदान की जाएगी |
  • |इस योजना के लाभार्थियों की पहचान CSC-SPV द्वारा डिस्ट्रिक्ट ई-गवर्नेंस सोसाइटी (DeGS), ग्राम पंचायतों तथा ब्लॉक डेवलपमेंट अधिकारीयों के साथ मिल कर की जाती है।

चलिए जाने पीएम ग्रामीण डिजिटल साक्षारता अभियान लाभ क्या है 

  • इस अभियान  का लाभ देश के ग्रामीण क्षेत्र के प्रत्येक परिवार के एक सदस्य को कंप्यूटर की  ट्रेनिंग  प्रदान किया जायेगा ।
  • एक परिवार को एक ईकाई के रूप में परिभाषित किया गया है, जिसमें शामिल हैं परिवार के प्रमुख, पति या पत्नी, बच्चे और माता-पिता।  ऐसे सभी घरों में जहां परिवार का कोई भी सदस्य डिजिटल साक्षर नहीं है, उन्हें इस योजना के अंतर्गत पात्र घर माना जाएगा ।
  • Pradhanmantri Gramin Digital Saksharta Abhiyan 2020 के तहत प्रशिक्षित नागरिको को कंप्यूटर , टेबलेट स्मार्ट फ़ोन , जैसे डिजिटल उपकरणों के संचालन में कुशल बनाया जायेगा ।
  • इस योजना के तहत प्रशिक्षण प्राप्त करके लोग अपने दैनिक जीवन में इंटरनेट का उपयोग करके नागरिक की सेवाओं , स्वास्थ्य सेवा , वित्तीय सेवाओं को लाभ उठा सकते है ।
  • ग्रामीण लोगो को ऑनलाइन बुकिंग के नए नए तरीको के बारे में बताया जायेगा ।
  • ग्रामीण डिजिटल साक्षरता अभियान 2020 के तहत गैर स्मार्टफोन ,उपयोगकर्ता, अंत्योदय परिवार, कॉलेज छोड़ चुके व्यक्ति, राष्ट्रीय साक्षरता मिशन के प्रतिभागी को प्राथमिक दी जायेगा ।
  • कक्षा 9 से 12वीं तक के छात्र-छात्राएं जिनको डिजिटल साक्षरता नहीं है व उनके स्कूल में भी कंप्यूटर ट्रेनिंग की सुविधा उपलब्ध नहीं है,
  • इसके साथ ही अनुसूचित जाती (SC), अनुसूचित जनजाति (ST), गरीबी रेखा के नीचे (BPL), महिलाओं, दिव्यांग व अल्पसंख्यकों को प्राथमिकता दी जाती है।
  • इस योजना के लाभार्थियों की पहचान CSC-SPV द्वारा डिस्ट्रिक्ट ई-गवर्नेंस सोसाइटी (DeGS), ग्राम पंचायतों तथा ब्लॉक डेवलपमेंट अधिकारीयों के साथ मिल कर की जाएगी ।

आइये जाने पीएम ग्रामीण डिजिटल साक्षारता अभियान 2020 के दस्तावेज़ (पात्रता ) क्या होना चाहिए 

  • आवेदक भारतीय निवासी होना चाहिए ।
  • आवेदक की आयु 18 से 60 वर्ष एक बीच होनी चाहिए ।
  • आवेदक का आधार कार्ड
  • पहचान  पत्र
  • आयु प्रमाण पत्र
  • मोबाइल नंबर
  • पासपोर्ट साइज फोटो

आइये जाने प्रधानमंत्री ग्रामीण डिजिटल साक्षरता अभियान (PMGDISHA) में आवेदन कैसे करे? 

    

  • सर्वप्रथम आवेदक को ऑफिसियल वेबसाइट पर जाना होगा । ऑफिसियल वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने होम पेज खुल जायेगा । इस होम पेज पर आपको Direct Candidate का ऑप्शन दिखाई देगा ।
  • आपको इस ऑप्शन पर क्लिक करना होगा । ऑप्शन पर क्लिक करने के बाद आपके सामने आगे का पेज खुल जायेगा । इस पेज पर आपको Login फॉर्म खुल जायेगा ।
  • इस लॉगिन फॉर्म के नीचे आपको Register का विकल्प दिखाई देगा । आपको इस विकल्प पर क्लिक करना होगा । इस विकल्प पर क्लिक करने के बाद आपके सामने registration form खुल जायेगा ।
  • इस रजिस्ट्रेशन फॉर्म में आपको पूछी गयी सभी जानकारी जैसे UIDAI Number ,Student Name , Gender , Date of Birth ,  आदि भरना होगा और नीचे दिए गए निर्देश को पढ़कर सही के निशान पर क्लिक करना होगा ।
  • उसके बाद Add पर क्लिक करना होगा ।इसके बाद आगे के पेज पर आपको अगला चरण ई – केवाईसी है जोकि या तो फिंगरप्रिंट स्कैन करके या आँखों को स्कैन करके या मोबाइल फोन में ओटीपी सत्यापित करके किया जा सकता है। जिनके पास फिंगरप्रिंट स्कैनर या रेटीना स्कैनर नहीं है, तो वे तीसरे विकल्प को चुन सकते हैं जोकि मोबाइल फोन ओटीपी सत्यापन है।
  • इसके लिए आपको वैलिड मोबाइल नंबर देना होगा, जिसमें ओटीपी भेजा जायेगा। सही ओटीपी इंटर करने के बाद आपको ‘वैलिडेट ओटीपी’ पर क्लिक करना होगा।
  • फिर आप स्टूडेंट टैब में जाकर अपनी सभी जानकारी की जाँच कर सकते हैं। एक बार रजिस्ट्रेशन हो जाने के बाद छात्र उसमें यूजर आईडी और पासवर्ड जनरेट करके अपना नया अकाउंट खोल सकते हैं।।

 आइये जन ले पीएम ग्रामीण डिजिटल साक्षरता अभियान का सर्टिफिकेट कैसे मिलेगा 

PMGDISHA सर्टिफिकेट आपको ट्रेनिंग के बाद मिलता है। ट्रेनिंग के बाद ऑनलाइन टेस्ट होता है। इस ऑनलाइन टेस्ट में 25 सवाल पूछे जाते हैं, जिनमें से अगर 7 का सही उत्तर दे दिया जाए, तो उम्मीदवार परीक्षा पास कर जाता है व उसको PMGDISHA सर्टिफिकेट दिया जायेगा ।

 चलिए जान ले ट्रेनिंग सेंटर कैसे खोलें 

  • देश के जो इच्छुक लाभार्थी अपना खुल का ट्रेनिंग सेंटर खोलना चाहते है तो आपको सबसे पहले CSC-SPV ट्रेनिंग पार्टनर बनना पड़ता है।
  • ट्रेनिंग पार्टनर कोई भी NGO, संस्थान या कंपनी हो सकती है। पार्टनर बनने के लिए कुछ मानदंड हैं जो पूरे होने चाहिए। जैसे एक ट्रेनिंग पार्टनर को भारत में पंजीकृत एक संगठन होना चाहिए,
  • तीन साल से अधिक समय तक शिक्षा/आईटी साक्षरता के क्षेत्र में व्यवसाय का संचालन करना और परमानेंट अकाउंट नंबर (PAN) और कम से कम पिछले तीन वर्षों के खातों का परीक्षित विवरण (audit) होना।

आइये जाने  ग्रीवेंस रिड्रेसल करने की प्रक्रिया क्या होगी 

यदि आपको ग्रीवेंस रिड्रेसल फाइल करना है तो आपको कोई फॉर्म भरने की जरूरत नहीं है। आपको केवल एक ईमेल भेजना होगा जिसमें आपको ग्राइवेंस से संबंधित जानकारी आपको लिखनी होगी। यह ई-मेल आपको पर भेजना होगा।

चलिए जान ले आरडी इंस्टॉलेशन यूजर मैन्युअल डाउनलोड करने की प्रक्रिया क्या होगी 

  • सर्वप्रथम आपको प्रधानमंत्री ग्रामीण डिजिटल साक्षरता अभियान की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अब आपके सामने होम पेज खुलकर आएगा।
  • अब आपको ट्रेनिंग के लिंक पर क्लिक करना होगा।
  • इसके पश्चात आपको आरडी इंस्टॉलेशन यूजर मैनुअल के लिंक पर क्लिक करना होग
  • आपके सामने मैनुअल फॉर आरडी इंस्टॉलेशन खुलकर आ जाएगा।
  • आप इसे डाउनलोड कर कर आरडी इंस्टॉल कर सकते हैं।

दिशा रजिस्ट्रेशन ऐप डाउनलोड करने की प्रक्रिया क्या होगी 

  • सर्वप्रथम आपको प्रधानमंत्री ग्रामीण डिजिटल साक्षरता अभियान की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अब आपके सामने होम पेज खुलकर आएगा।
  • अब आपको ट्रेनिंग के लिंक पर क्लिक करना होगा।
  • इसके पश्चात आपको दिशा रजिस्ट्रेशन ऐप के लिंक पर क्लिक करना होगा।
  • जैसे ही आप इस लिंक पर क्लिक करेंगे यह ऐप डाउनलोड होना शुरू हो जाएगा।
  • जब यह ऐप डाउनलोड हो जाएगा आप इसे इंस्टॉल कर सकते हैं।

 आइये जन ले पीएम ग्रामीण डिजिटल साक्षरता अभियान हेल्पलाइन नंबर

PMGDISHA से सम्बन्धी यदि किसी व्यक्ति को कोई सवाल है या कोई परेशानी है तो आप 1800 3000 3468 इस नंबर पर फ़ोन कर के जान सकते हैं या पर ईमेल भी कर सकते हैं।और अपनी परेशानी और अपने सवाल का जवाब प्राप्त कर सकते है |