पीएम मोदी Health ID Card 2021: ऑनलाइन आवेदन, One Nation One Health Card

वन नेशन वन राशन कार्ड के बाद अब सरकार वन नेशन वन हेल्थ कार्ड (One Nation one health card) लाने की तैयारी कर रही है. देश के हर नागरिक का हेल्थ रिकॉर्ड डिजिटल रूप में रखने के मकसद को लेकर सरकार यह तैयारी कर रही है.

पीएम मोदी Health ID Card 2021: ऑनलाइन आवेदन, One Nation One Health Card
one nation one health

वन नेशन वन हेल्थ कार्ड लाने की तैयारी में सरकार, 15 अगस्त को हो सकता है ऐलान

वन नेशन वन राशन कार्ड के बाद अब सरकार वन नेशन वन हेल्थ कार्ड (One Nation one health card) लाने की तैयारी कर रही है. सूत्रों की मानें तो 15 अगस्त को लाल किले से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इसका ऐलान कर सकते हैं. देश के हर नागरिक का हेल्थ रिकॉर्ड डिजिटल रूप में रखने के मकसद को लेकर सरकार यह तैयारी कर रही है.

क्या है वन नेशन वन हेल्थ कार्ड आइये जानते है 


सरकार की वन नेशन वन हेल्थ कार्ड योजना (One Nation one health card scheme) के जरिए सभी को एक हेल्थ कार्ड बनवाना होगा. इससे होने वाले ट्रिटमेंट और टेस्ट की पूरी जानकारी इस कार्ड में डिजिटली सेव होगी. इसका रिकॉर्ड रखा जा सकेगा. इसका सबसे बड़ा फायदा यह होगा कि देश में किसी भी हॉस्पिटल या डॉक्टर के पास जब इलाज कराने जाएंगे तो साथ में आपको सारे पर्चे और टेस्ट रिपोर्ट नहीं ले जाना पड़ेगा. डॉक्टर कहीं से भी बैठकर आपकी यूनिक आईडी के जरिए सारा मेडिकल रिकॉर्ड देख सकेगा.

सर्वर से लिंक होगा रिकॉर्ड कैसे 


अस्पताल, क्लिनिक, डॉक्टर एक सेंट्रल सर्वर से लिंक रहेंगे. अस्पताल और नागरिकों के लिए अभी ये उनकी मर्जी पर निर्भर करेगा कि वो इस मिशन से जुड़ना चाहते है या नहीं. हर नागरिक का एक सिंगल यूनिक आइडी (Unique ID) जारी होगा. उसी आधार पर लॉगिन होगा. फेज वाइज तरीके से इसको लागू किया जाएगा.

₹500 करोड़ होगा पहले चरण का बजट


आधार कार्ड के आधार पर हेल्थ कार्ड बनाने की सिफारिश की जाएगी, लेकिन इसके लिए आम नागरिकों को बाध्य नहीं किया जा सकेगा. यह पूरी तरह वैकल्पिक होगा. नागरिक की मर्जी पर निर्भर होगा कि वो इसे बनवाना चाहता है या नहीं. योजना के पहले चरण में इस पर 500 करोड़ का बजट रखा गया है. लोगो की व्यक्तिगत जानकारी सिक्योर और प्राइवेट रहे इसका पूरा ध्यान रखा जाएगा. योजना के जरिए देश के स्वास्थ्य वातावरण को बदलने की कोशिश है

मरीज की मंजूरी के बाद ही खुलेगी हेल्थ प्रोफाइल


सूत्रों के मुताबिक इस योजना का दायरा बाद में व्यापक होगा, जिससे ना सिर्फ डॉक्टर, क्लीनिक, हॉस्पिटल, बल्कि मेडिकल स्टोर, मेडिकल इंश्योरेंस प्रोवाइड करने वाली कंपनियां सभी इसके जरिए सर्वर से कनेक्टेड रहेंगे. इसमें गोपनीयता का पूरा ध्यान रखा जाएगा. किसी भी व्यक्ति की हेल्थ प्रोफाइल उसकी मंजूरी से ही डॉक्टर या हॉस्पिटल का स्टाफ देख सकेगा.

पीएम मोदी Health ID Card 2021 क्या है?

नेशनल डिजिटल हेल्थ मिशन के अंतर्गत प्रधानमंत्री जी द्वारा पीएम मोदी हेल्थ आईडी कार्ड की घोषणा की गई है। इस योजना के अंतर्गत प्रत्येक रोगी को एक आईडी कार्ड दिया जाएगा। जिस पर उसका सारा मेडिकल डाटा डिजिटल स्टोर होगा। जैसे कि उसकी प्रशिक्षण, रिपोर्ट, डिस्चार्ज से संबंधित जानकारी आदि। जिसकी वजह से अब पेशेंट को अपना इलाज करवाने के लिए भौतिक रिपोर्ट ले जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी। पेशेंट का सारा डाटा इस हेल्थ आईडी कार्ड में स्टोर होगा और पीएम मोदी हेल्थ आईडी कार्ड 2021 के माध्यम से डॉक्टर पेशेंट का सारा डाटा देख पाएंगे। इस योजना के अंतर्गत अस्पताल क्लीनिक तथा डॉक्टर सभी एक केंद्रीय सरवर से जुड़े होंगे। इस योजना के अंतर्गत हेल्थ कार्ड लेने वाले नागरिकों को एक यूनीक आईडी दी जाएगी जिसके माध्यम से वह सिस्टम में लॉगिन कर सकेंगे। इस योजना के अंतर्गत सरकार द्वारा 500 करोड़ का बजट निर्धारित किया गया है।

किन किन  राज्यों में पहले लागू की जा रही हेल्थ कार्ड योजना

हमारे देश के प्रधानमंत्री जी के द्वारा आधार कार्ड बाद डिजिटल हेल्थ कार्ड योजना आरम्भ करने जा रहे है। इस हेल्थ कार्ड के अंतर्गत देश के नागरिको का स्वास्थय जुड़ा सम्पूर्ण विवरण होगा।  इस हेल्थ आईडी कार्ड मिशन को सबसे पहले  6 केंद्र शासित राज्यों (अंदमान निकोबार , चंडीगढ़ , लदाख , लक्षदीप , पुडुचेरी , दादरा नगर हवेली , दमन दीव )   में आरंभ किया जा रहा है इस जगहों में अस्पतालो , क्लिनिक  , ,डॉक्टरों का रजिस्ट्रेशन शुरू हो गया है। और वही पर देश के नागरिको की डिजिटल हेल्थ आईडी बनायीं जाएगी ये आईडी वेबसाइट के माध्यम से और अस्पतालों के माध्यम से भी बनायीं जा सकती है। जल्द ही इस योजना को पुरे भारत देश में लागू किया जायेगा। जिससे देश के सभी नागरिको इस डिजिटल हेल्थ आईडी कार्ड का इस्तेमाल कर सकते है।

डाटा गोपनीयता को लेकर आशंका

जैसे कि हमने आपको बताया कि हेल्थ आईडी कार्ड में आपका पूरा मेडिकल डाटा स्टोर होगा। जिसे आप के डॉक्टर एक्सेस कर पाएंगे। इस स्थिति में आपके मन में सवाल उठ रहा होगा कि आपका डाटा गोपनीय है या नहीं। दोस्तों आपको बता दें कि केंद्र सरकार आपके डाटा की गोपनीयता की पूरी जिम्मेदारी ले रही है। इस हेल्थ आईडी कार्ड के माध्यम से आपका डॉक्टर केवल एक बार (one time access) आपका डाटा देख सकता है। यदि आप दोबारा डॉक्टर के पास जाएंगे तो आपके डॉक्टर को आपका डाटा देखने के लिए दोबारा से आपसे एक्सेस लेना होगा। हालांकि यह पूरी तरह से अस्पतालों और नागरिक को की मर्जी है कि वह यह हेल्थ कार्ड ले या फिर नहीं है।

One Nation One Health Card 2021 का विस्तारीकरण

प्रधानमंत्री मोदी हेल्थ आईडी कार्ड का 2021 का विस्तारीकरण किया जाएगा। पहले यह हेल्थ कार्ड का डाटा क्लिनिक्स तथा हॉस्पिटल के लिए उपलब्ध जाएगा। जिससे कि डॉक्टर पेशेंट का डाटा डिजिटल एक्सेस कर सकें। इसके बाद पेशन का डाटा मेडिकल स्टोर तथा मेडिकल इंश्योरेंस कंपनी से भी सरवर के माध्यम से साझा किया जाएगा। इस सभी प्रक्रिया में पेशेंट के डाटा की गोपनीयता का पूरा ध्यान रखा जाएगा।

Key Highlights PM Modi Health ID Card 2021

आर्टिकल किसके बारे में है पीएम मोदी हेल्थ आईडी कार्ड 2021
किस ने लांच की स्कीम केंद्र सरकार
लाभार्थी भारत के नागरिक
आर्टिकल का उद्देश्य इस योजना का मुख्य उद्देश्य सभी पेशेंट्स के डाटा को डिजिटल स्टोर करना है।
ऑफिशियल वेबसाइट यहां क्लिक करें
साल 2020
स्कीम उपलब्ध है या नहीं उपलब्ध

हेल्थ आईडी कार्ड 2021 का उद्देश्य क्या है 

Health ID Card 2021 का मुख्य उद्देश्य देश के सभी नागरिकों का मेडिकल डाटा डिजिटल स्टोर करना है। इस योजना के माध्यम से अब लोगों को अपना इलाज करवाने के लिए भौतिक रिपोर्ट अपने साथ ले जाने की जरूरत नहीं है। उन्हें केवल यह डिजिटल आईडी ले जाने की जरूरत पड़ेगी। जिसके माध्यम से डॉ पेशेंट का मेडिकल डाटा एक्सेस कर पाएंगे। इस योजना के माध्यम से समय की भी बचत होगी और किसी भी प्रकार का डाटा कभी खोएगा नहीं।

NDHM के माध्यम से ध्यान देने योग्य बातें जानते है 

  • हेल्थ आईडी  सिस्टम -,जिसमे नागरिको की हेल्थ आईडी बनायीं जाएगी।
  • Digi  डॉक्टर – जिसमे सभी डॉक्टरों का यूनिक आईडी होगी और सभी जानकारी होगी।
  • हेल्थ फेसेलिटी रजिस्ट्री – जिसमे सभी हॉस्पिटल ,क्लिनिक , लैब जुड़ सकेंगे और यूनिक आईडी प्राप्त कर सकेंगे। और साथ ही अपनी जानकारी अपडेट कर सकेंगे।
  • पर्सनल हेल्थ रिकॉर्ड जहा पर लोग अपनी स्वास्थय सम्बन्धी जानकारी अपडेट कर सकेंगे।

पीएम मोदी हेल्थ आईडी के अंतर्गत कुछ मुख्य चीज़े जान लेते है 

  • इस कार्ड के अंतर्गत लोगो की स्वास्थ्य  संबधी जानकारी जैसे ब्लड ग्रुप , रिपोर्ट्स , डॉक्टर प्रिस्क्रिप्शन और दवाइयों से जुडी जानकारी आदि  होगी।
  • डिजिटल हेल्थ कार्ड 14 डिजिट का होगा।
  • इस कार्ड पर एक यूनिक क्यूआर कोड होगा।
  • देश के लोगो के आलावा भी डॉक्टर , सरकारी और गैर सरकारी अस्पताल ,क्लीनिक, डिपेंसरी आदि सबको जोड़ा जायेगा।
  • बिना यूज़र की जानकारी के डिटेल्स नहीं देखी जा सकती है उनके पास पासवर्ड और OTP होना चाहिए।

One Nation One Health Card 2021 के लाभ तथा विशेषताएं आइये जाने 

  • पीएम मोदी हेल्थ आईडी कार्ड 2021 के माध्यम से सभी पेशेंट का डाटा डिजिटल स्टोर किया जाएगा।
  • इस योजना के माध्यम से अब लोगों को अपने मेडिकल रिपोर्ट हर जगह ले जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी। क्योंकि उनकी मेडिकल रिपोर्ट इस आई डी में स्टार्ट होगी जिसे डॉक्टर एक्सेस कर पाएंगे।
  • इस योजना की घोषणा हमारे देश के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर की गई है।
  • पीएम मोदी हेल्थ आईडी कार्ड 2021 के माध्यम से किसी भी प्रकार का मेडिकल डाटा कभी भी लोगों के पास से नहीं खोएगा।
  • हेल्थ आईडी कार्ड के माध्यम से समय की भी बचत होगी।
  • इस योजना के लिए सरकार द्वारा 500 करोड़ रुपए का बजट निर्धारित किया गया है।
  • प्रधानमंत्री मोदी हेल्थ आईडी कार्ड 2021 के अंतर्गत पेशेंट के डाटा को पूरी तरह से गोपनीय रखा जाएगा।
  • इस योजना के माध्यम से अस्पताल, क्लीनिक तथा पेशेंट एक केंद्रीय सरवर के माध्यम से जुड़े होंगे।
  • यह हेल्थ आईडी कार्ड चिकित्सा क्षेत्र में एक बहुत बड़ी क्रांति लाएगा।
  • इस योजना के अंतर्गत आईडी कार्ड लेने वाले नागरिकों को एक यूनिक आईडी दी जाएगी। उस के माध्यम से वह सिस्टम में लॉगिन कर पाएंगे।
  • सरकार द्वारा हॉस्पिटल तथा नागरिकों को यह विकल्प दिया गया है कि वह अपनी मर्जी के अनुसार हेल्थ कार्ड ले सकते हैं और यदि वे चाहें तो वह हेल्थ कार्ड नहीं ले। हेल्थ कार्ड बनवाना कोई जरूरी नहीं है।
  • हेल्थ आईडी कार्ड का विस्तारीकरण मेडिकल स्टोर तथा हेल्थ इंश्योरेंस कंपनी तक किया जाएगा।

पीएम मोदी हेल्थ आईडी कार्ड के मुख्य तथ्य क्या है देख लेते है 

  • पीएम मोदी हेल्थ आईडी कार्ड में एक क्यूआर कोड होगा जिसे स्कैन करके हॉस्पिटल तथा क्लीनिक पेशेंट से संबंधित जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।
  • यह जानकारी प्राप्त करने के लिए हॉस्पिटल तथा क्लिनिको को हेल्थ आईडी कार्ड तथा ओटीपी की आवश्यकता होगी जिसके बिना जानकारी नहीं देखी जा पाएगी।
  • पीएम मोदी हेल्थ आईडी कार्ड में ब्लड ग्रुप, दवाई, रिपोर्ट तथा डॉक्टर से संबंधित सभी जानकारी दर्ज की जाएगी।
  • इस आईडी कार्ड पर 14 डिजिट का एक नंबर होगा जो कि हर एक पेशेंट की यूनीक आईडी होगी।
  • हेल्थ आईडी कार्ड को आधार कार्ड से लिंक करना अनिवार्य है।
  • इस योजना का कार्य वाहन नेशनल हेल्थ अथॉरिटी के पास है।
  • यह योजना प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के अंतर्गत आती है।

हेल्थ आईडी कार्ड पीएम मोदी 2021 की पात्रता

  • इस योजना का लाभ उठाने के लिए आवेदक को भारत का स्थाई निवासी होना अनिवार्य है।
  • आधार कार्ड
  • बैंक पासबुक
  • राशन कार्ड
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • मोबाइल नंबर

पीएम मोदी हेल्थ आईडी कार्ड के लिए आवेदन करने की प्रक्रिया

पीएम मोदी Health ID Card
  • अब आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा।
  • होम पेज पर आपको क्रिएट हेल्थ आईडी के लिंक पर क्लिक करना होगा।
पीएम मोदी Health ID Card
पीएम मोदी Health ID Card
  • अब यदि आप आधार कार्ड के जरिए हेल्थ आईडी जनरेट करना चाहते हैं तो आपको जनरेट वाया आधार कार्ड से लिंक पर क्लिक करना होगा और यदि आप मोबाइल नंबर के जरिए हेल्थ आईडी जनरेट करना चाहते हैं तो आपको जनरेट वाया मोबाइल के लिंक पर क्लिक करना होगा।
  • यदि आपने आधार कार्ड सिलेक्ट किया है तो आपको अपना आधार नंबर भरना होगा और यदि आपने अपने मोबाइल नंबर सेलेक्ट किया है तो आपको अपना मोबाइल नंबर भरना होगा।
  • अब आपके फोन पर ओटीपी आएगा। आपको यह ओटीपी, ओटीपी बॉक्स में भरना होगा।
  • इसके पश्चात आपके सामने फॉर्म खुलकर आएगा जिसमें पूछी गई जानकारी आपको ध्यान पूर्वक भरनी होगी।
  • अब आपको सबमिट के बटन पर क्लिक करना होगा।
  • सबमिट के बटन पर क्लिक करने के बाद आपकी हेल्थ आईडी जनरेट हो जाएगा।

Helpline Number

 नेशनल डिजिटल हेल्थ मिशन की ईमेल आईडी और टोल फ्री नंबर कुछ इस प्रकार है।