एक कुत्ते कि कहानी लालच बुरी बला

लालच बुरी बला है| हमें कभी भी लालच नहीं करना चाहिए|  जो भी इंसान लालच करता है वह अपनी लाइफ में कभी भी खुश नहीं रह सकता|  हमें अपनी मेहनत या किस्मत का जितना भी मिल गया| उससे अपना काम निकालना चाहिए 

एक कुत्ते कि कहानी लालच बुरी बला
Lalach Buri Bala Moral Story

एक कुत्ते कि कहानी लालच बुरी बला

एक गाँव में एक कुत्ता था|  वह बहुत लालची था| वह भोजन की खोज में इधर – उधर भटकता रहा|  लेकिन कही भी उसे भोजन नहीं मिला| अंत में उसे एक होटल के बाहर से मांस का एक टुकड़ा मिला| वह उसे अकेले में बैठकर खाना चाहता था| इसलिए वह उसे लेकर भाग गया| एकांत स्थल की खोज करते – करते वह एक नदी के किनारे पहुँच गया| अचानक उसने अपनी परछाई नदी में देखी| उसने समझा की पानी में कोई दूसरा कुत्ता है जिसके मुँह में भी मांस का टुकड़ा है |

उसने सोचा क्यों न इसका टुकड़ा भी छीन लिया जाए तो खाने का मजा दोगुना हो जाएगा| वह उस पर जोर से भौंका|  भौंकने से उसका अपना मांस का टुकड़ा भी नदी में गिर पड़ा| अब वह अपना टुकड़ा भी खो बैठा| अब वह बहुत पछताया तथा मुँह लटकाता हुआ गाँव को वापस आ गया|

इस कहानी से हमें क्या शिक्षा मिलती है आइये जाने 

लालच बुरी बला है| हमें कभी भी लालच नहीं करना चाहिए|  जो भी इंसान लालच करता है वह अपनी लाइफ में कभी भी खुश नहीं रह सकता|  हमें अपनी मेहनत या किस्मत का जितना भी मिल गया| उससे अपना काम निकालना चाहिए 

लेकिन अगर हम थोड़ा ज्यादा के चक्कर में लालच करेंगे तो हमारे पास अभी जितना है उससे भी हाथ धोना पड़ सकता है|  इसलिए कहते है ज्यादा लालच अच्छा नहीं होता| अपने सुना ही होगा 

उम्मीद है कहानी अच्छी लगी होगी आप सभी को 

like
35
dislike
9
love
18
funny
19
angry
8
sad
6
wow
17

यदि आप एक अच्छे लेखक हैं तो हमारे वेबसाइट पर लेख लिखकर अब पैसे भी कमा सकते हैं | वेबसाइट पर मुफ्त पंजीकरण के लिए यहाँ क्लिक करें ।